सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

बिजली का अविष्कार किसने किया | Bijli Ka Avishkar Kisne Kiya

हमलोग बिजली के बारे में जानकारी प्राप्त करने वाले हैं। जिसे अंग्रेजी में करंट, हिंदी में धारा, भौतिक में विद्युत आदि जैसे नामों से इसे व्यक्त किया जाता है। इस लेख में बिजली का आविष्कार किसने किया और कब और इससे जुड़े कुछ मुख्य तथ्य के बारे में जानकारी शेयर की गई है।

बिजली का अविष्कार किसने किया


बिजली यानि करंट क्या है ?

बिजली यानि करंट एक प्रकार का भौतिक बल है। जिसे नहीं देखा जा सकता है और ना ही स्पष्ट किया जाता है। लेकिन इसका अनुभव कुछ घटनाओं और प्रयोग से किया जाता है।


बिजली यानि करंट आधारभूत परमाणु का अंग है। इलेक्ट्रॉनों के असंतुलन के कारण किसी भी प्रकार की लगाई गई ऊर्जा विद्युतिये ऊर्जा में बदल जाती है। जिसका उपयोग हम विभिन्न इलेक्ट्रॉनिक उपकरण को चलाने में करते हैं, जैसे कंप्यूटर, पंखा, बल्ब, टीवी जैसे इत्यादि विद्युत उपकरण है जिसे हम बिजली यानी करंट के द्वारा इन वस्तुओं का प्रयोग करते हैं।


बिजली की खोज किसने कि थी और कैसे?
बिजली का आविष्कार किसने किया?

बिजली एक ऐसी अविष्कार है। जिसे पूरे विश्व भर में सबसे ज्यादा प्रयोग किया जाने वाला अविष्कार है। हम बता दें कि बिजली की अविष्कार नहीं हुई है बल्कि इसका खोज हुआ है। जिसका श्रेय किन्ही एक को नहीं जाता।


बिजली की खोज 600 BC में हुआ। प्राचीन यूनानियों ने जाना कि जीवाश्म वृक्ष पर फर को गिरने से जो राल बनती है। जिसके कारण चुंबकीय शक्ति का निर्माण होता है। जैसे आज हम लोग स्थिर उर्जा भी करते हैं।


बिजली के आविष्कार का संक्षिप्त इतिहास (विद्युत की उत्पत्ति कैसे हुई)

प्राचीन यूनानियों ने 600 BC में जीवाश्म वृक्ष पर फर को गिरने से जो राल बनती है। जिसके बीच चुम्बतकत्व का निर्माण करता था। 


कुछ किताबों में यह भी बताया जाता है कि बिजली का आविष्कार अलेक्जेंडर लोडीजिन और विलियम ग्रीन ने किया था। लेकिन बिजली का आविष्कार किसी एक व्यक्तियों ने नहीं बल्कि अनेक वैज्ञानिकों ने अलग अलग क्षेत्रों के वैज्ञानिकों ने साथ मिलकर किया था।


बिजली कितने प्रकार के होते है?

बिजली मुख्यतः दो भागो में बाटा गया हैं, दृष्टि धारा (direct current) और प्रत्यावर्ती धारा (alternative current) ये दो प्रकार के बिजली होती है।


द्विष्ट धारा यानि डायरेक्ट करंट क्या है ?

आवेश यानि charge के प्रवाह की मात्रा या दर को धारा कहते है और जब आवेश एक दिशा में बहता है तब इसे दिष्ट धारा यानि Direct current कहेंगे


द्विष्ट धारा का अविष्कार : वोल्टास ने किया था।


प्रत्यावर्ती धारा यानि अलटरनेट करंट क्या है ?

प्रत्यावर्ती धारा एक निश्चित रेखा पर सीधे नही चलती, बाली शून्य से अधिक और शून्य से कम यानी शून्य से उपर नीचे होती तहरी है।


प्रत्यावर्ती धारा का अविष्कार : निकोला टेस्ला ने किया था


बिजली के बारे मेँ रोचक तथ्य

बिजली के जन्मदाता कौन है?

आधुनिक रूप से देखा जाए तो बिजली के जन्मदाता माइकल फैराडे ही हैं


भारत में बिजली का आविष्कार कब हुआ?

1902


बिजली का SI यूनिट क्या है ?

बिजली का SI यूनिट एम्पियर है।


आज हमने क्या सीखा

आशा करता हूं कि आपको बिजली का अविष्कार किसने किया इसकी संपूर्ण जानकारी और इससे जुड़ी कुछ प्रश्न का भी उत्तर मिल गया होगा। फिर भी आपको इस लेख से संबंधित किसी भी प्रकार की परेशानियां या इस लेख में कोई खामियां दिखाई पड़ रही है तो आप तुरंत हमें कमेंट करें मैं आपके सवालों का उत्तर कुछ क्षणों में दूंगा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

गूगल मेरी माँ का नाम सेव करो। Meri Mother Ka Naam Kya Hai

गूगल मेरी मॉम का नाम क्या hai आज के इस ब्लॉग लेख में हम लोग जानेंगे की गूगल हमारे रिश्तेदारों, करीबी, दोस्तों का नाम कैसे बताता है और अगर नहीं बता पाता है तो हम किस तरह से गूगल से अपनी मां का नाम बोलवा सकते हैं? इन सारी बातों के बारे में इस लेख में चर्चा करने वाले हैं। अगर आप भी चाहते हैं कि मैं अपनी मां का नाम गूगल से बोलवाना है, तो आप इस लेख को अच्छे से पढ़े। Meri maa Ka Naam kya Hai Google se puche गूगल से अपनी Mata ka naam पूछने के लिए हमारे मोबाइल फोन में एक एप्लीकेशन होना चाहिए। जिस अप्लीकेशन का नाम है गूगल असिस्टेंट, जिसकी मदद से सवाल तो क्या किसी भी तरह की बातें कर सकते हैं, और आपके सवालों का जवाब Google assistant चंद सेकंड में देगा। अपने मोबाइल फोन का गूगल असिस्टेंट नाम का एप्लीकेशन ओपन करें नहीं है तो प्ले स्टोर पर आसानी से मिल जाएगी गूगल असिस्टेंट के नाम से जाकर डाउनलोड करें। जैसे ही Google assistant को खोलेंगे तो आपके मोबाइल कुछ परमिशन मांगेगी। सभी prmission को allow करने के बाद गूगल असिस्टेंट को set-up करे। गूगल असिस्टेंट पूरी तरह से set-up होने के बाद एक माइक का ऑप्शन द

Hello Google Meri Girlfriend Ka Naam Kya Hai | मेरी जीएफ का नाम क्या है।

Google meri girlfriend ka naam batao मैंने भी गूगल से ऐसी questions किया करता हूं। जब मुझे गूगल से बात करने का समय मिलता और यह जानने की कोशिश में गूगल हमारे प्रश्नों का उत्तर किस हद तक सही देता है और क्या हमारे गर्लफ्रेंड का नाम बता सकता है।  आप गूगल से Google girlfriend ka naam kya hai क्वेश्चन पूछ रहे हैं और आपको गूगल नहीं बता रहा है तो आप किस तरह से अपने गर्लफ्रेंड का नाम बुलवा सकते हैं। और गूगल असिस्टेंट आपकी गर्लफ्रेंड का नाम क्यों नहीं बता रहा ये सब के बारे में इस लेख में चर्चा करने वाले हैं। इसलिए ध्यान से पढ़ें। जैसा कि हम सबों को मालूम है। गूगल हमारे डाटा को ही हमारे सामने प्रेजेंट करता है। जब कोई व्यक्ति जो google ID बना रहा होता है। तो वह बहुत सारे डिटेल जीमेल आईडी बनाने में भरता है। जिससे बहुत सारे प्रश्न का उत्तर गूगल अकाउंट से दे पाता है और कुछ प्रश्न का उत्तर आपके कांटेक्ट लिस्ट, activity से। गूगल हमारी गर्लफ्रेंड का नाम क्यों नहीं बताती है अब प्रश्न रही Ok google girlfriend ka naam Kya haI तो एसे में मोबाइल पर कोई भी option नहीं होता है। जहां आपकी गर्लफ्रेंड का नाम डाल

Google मेरे पापा का नाम क्या है | Google Mere Papa Ka Naam Kya Hai In Hindi

  गूगल मेरे पापा का नाम क्या है। इस तरह के सवाल क्या आप भी गूगल से पूछते हैं। यह सोचने वाली बात नहीं है। जो भी गूगल असिस्टेंट को यूज करता है। वह अपने पापा तो क्या वह बहुत सारे चीजों को जानने के लिए उत्सुक रहता है, कि यह गूगल हमारे सवालों का जवाब सही-सही दे सकता है या नहीं। वैसे में आता है कि क्या गूगल मेरे पापा का नाम बता सकता है। गूगल मेरे पापा का नाम बताओ। से संबंधित सवाल गूगल से रोज लाखों लोग पूछते हैं। वैसे में Google लगभग सभी लोगों के पिताजी का नाम गूगल नहीं बता पाता। क्योंकि गूगल उन्हीं बातों को बताता है। जो गूगल के डाटा में शामिल हो। वैसे किसी के मोबाइल में ऐसी कोई भी डाटा नहीं होती है। जहां पर उसके पिताजी का डाटा को ऐड करना हो। इसलिए गूगल मेरे पिताजी का नाम नहीं बता पाता। आज के इस लेख में हम जान लेते हैं। गूगल आखिर किस तरह से मेरे पापा का नाम क्या है बताओ इसका आंसर चुटकियों में दे सकता है, या नहीं। Google से पापा का नाम कैस बोलवाए। गूगल भले ही कितना एडवांस क्यों ना हो जाए। परंतु इंसानों के सवालों का जवाब सभी अच्छे से नहीं दे सकता। इंसानी सवाल को एक मशीन इंसान के भावनाओं के हिसा